राम मंदिर का शिलान्यास 3 या 5 अगस्त को हो सकता है

0
66
राम मंदिर निर्माण

अयोध्या। रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक अयोध्या में समाप्त हो गई। इस बैठक में राम मंदिर के शिलान्यास को लेकर चर्चा हुई। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा कि पीएमओ को शिलान्यास की तारीख 3 व 5 अगस्त भेजी गई है। वहां की मंजूरी के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा। बैठक में राममंदिर के स्वरूप को लेकर चर्चा भी हुई। राम मंदिर की ऊँचाई 161 फिट होगी और मंदिर में तीन की जगह पांच गुंबद होंगे।

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास PM को अयोध्या आने के लिए निमंत्रण पत्र भेज चुके हैं। ट्रस्ट की बैठक में राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र समेत 12 सदस्य शामिल हुए और तीन सदस्य वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़े रहे।

3 से साढ़े 3 साल में राम मंदिर का निर्माण हो जाएगा

रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के जनरल सेक्रेटरी चंपत राय ने बताया कि चर्चा की गई थी मानसून के बाद सभी परिस्थितियों दूर हो जाएगी तो आर्थिक सहायता के लिए देश के 4 लाख इलाकों से 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया जाएगा। फंड कलेक्ट होने के बाद और मंदिर निर्माण से जुडी ड्रॉइंग पूरी होने के बाद हमे लगता है कि 3 से साढ़े 3 साल में मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा।

जो अवशेष जमीन से प्राप्त हुए हैं, उसे सभी ने देख लिए है

जनरल सेक्रेटरी चंपत राय ने कहा कि जहां राममंदिर बनना है उस स्थान के मलबे को धीरे-धीरे हटाया गया क्योंकि यहां काम करने वाले को आसानी हो सके, जो अवशेष जमीन से मिले हैं, उन्हें सभी ने देख लिए है। 60 मीटर गहराई तक खोदकर भूमि का परीक्षण किया जा रहा है। राय ने बताया कि इस मंदिर निर्माण के लिए 10 करोड़ लोगों का सहयोग लिया जाएगा। इसका निर्माण एलएंडटी कम्पनी औऱ सोमपुरा मिलकर करेंगे।

बैठक में इन 5 मुद्दों पर बातचीत हुई
  1. मंदिर निर्माण के शिलान्यास की तारीख तय करना।
  2. पीएम को भूमिपूजन के लिए बुलाना।
  3. मुख्य गर्भगृह का डिजाइन तैयार करना।
  4. परिसर में सीता मंदिर के निर्माण पर चर्चा।
  5. 70 एकड़ के परिसर के विस्तार पर सुझाव लेना और 108 एकड़ करने की सहमति बनाना।
चौपाल – राम मंदिर के साथ राष्ट्र मंदिर बनेगा

रामजन्मभूमि तीर्थ सेवा ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा – अगर PM के द्वारा मंदिर के गर्भगृह का पूजन और मंदिर का शुभारंभ होता है तो सबसे अच्छा है। शिलापूजन सिंहद्वार के शिलान्यास के साथ हो चुका है। अब गर्भगृह के पूजन होना बाकी है। कोरोना संकट को देखते हुए ट्रस्ट ने इसके भूमिपूजन का कार्यक्रम को टाल दिया है। देश के सामने जो संकट है पहले उसे देखना चाहिए। कामेश्वर चौपाल ने कहा कि राम मंदिर के साथ राष्ट्र मंदिर बनेगा, जिसका शुभारंभ मोदी करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here