प्रधानमंत्री कुसुम योजना : अब खेती करना हुआ और भी आसान

0
207
प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2020

नई दिल्ली। भारत एक कृषि प्रधान देश होने के बावजूद किसानों की हालत खराब है। ऐसे में किसानों की हालत सुधारने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से कुसुम योजना की शुरुआत की है। इस योजना में सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है। किसान पर सौर ऊर्जा और सोलर पंप लगाकर अपने खेतों में सिंचाई कर सकते हैं। PM Kusum Yojana के तहत केन्द्र सरकार का लक्ष्य है कि देशभर में सिंचाई करने के उपयोग में लिए जा रहे बिजली और डीजल के पम्पों को सोलर ऊर्जा से चलाया जा सकें।

इस योजना में किसानों के साथ-साथ सरकार को भी फायदा होने वाला है। सिचाई के दौरान बारिश के चलते बिजली की कटौती के कारण किसानों को परेशानी होती है। लेकिन, पीएम कुसुम योजना से इन समस्याओं से निजात पा सकते हैं। इस योजना की मदद से किसानों को अपनी भूमि पर सोलर पैनल लगाकर सौर ऊर्जा का उपयोग कर सकते हैं।

तीन करोड़ सिंचाई पंपो को सौर ऊर्जा से चलाने का लक्ष्य

इस योजना के तहत केन्द्र सरकार 2022 तक देशभर में तीन करोड़ सिंचाई पंपो को सौर ऊर्जा से चलाने का लक्ष्य किया है। जिसमें कुल 1.40 लाख करोड़ रुपए की लागत आएगी। इस योजना में केंद्र सरकार 48 हजार करोड़ रुपए का योगदान करेंगी, जबकि इतना रुपये राज्य सरकार भी देगी। इस योजना में किसानों को सोलर पंप की कुल लागत का सिर्फ 10 फीसदी तक खर्च करना होगा।

PM कुसुम योजना के फायदे

केंद्र सरकार की इस योजना से किसानों को दो तरह से फायदा होगा। पहला, किसानों को सोलर पैनल सेटअप के बाद फ्री सौर ऊर्जा मिलेगी। दूसरा, किसान अपनी अतिरिक्त सौर ऊर्जा किसी बिजली कम्पनी को बेच सकते हैं जिससे किसानों को अच्छी खासी कमाई हो सकती है। इसके साथ ही आप अपने खाली जमीन पर सोलर प्लांट लगाकर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं।

ऐसे करें आवेदन

प्रधानमंत्री कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट https://mnre.gov.in/ पर जाकर पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास आधार कार्ड, खतौनी, घोषणा पत्र और बैंक पासबुक समेत मुख्य जानकारी देनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here